Ind vs SA: मो. शमी साउथ अफ्रीका के खिलाफ होने वाले T20I सीरीज से बाहर, टीम में बने रहेंगे उमेश यादव – The Focus Hindi

Ind vs SA: मो. शमी साउथ अफ्रीका के खिलाफ होने वाले T20I सीरीज से बाहर, टीम में बने रहेंगे उमेश यादव

कप्तान रोहित शर्मा की अगुआई वाली भारतीय टीम को आस्ट्रेलिया में होने वाले आगामी टी-20 विश्व कप से पहले अब सिर्फ पांच मैच खेलने हैं और टीम इन मैचों से अपनी तैयारियों को पुख्ता करना चाहेगी। आस्ट्रेलिया के विरुद्ध रविवार को भारतीय टीम ने भले ही टी-20 सीरीज 2-1 से जीत ली, लेकिन कई विभाग ऐसे हैं जहां टीम प्रबंधन को काम करने की जरूरत है।

आस्ट्रेलिया से तो भारतीय टीम जीत गई, लेकिन अब असली चुनौती दक्षिण अफ्रीका है। भारतीय टीम इस अफ्रीकी टीम से अपने घर में एक बार भी टी-20 सीरीज नहीं जीत पाई है। अफ्रीका के विरुद्ध तीन मैचों की टी-20 सीरीज का आगाज बुधवार से तिरुवनंतपुरम में होगा। इसके बाद टीम को विश्व कप से पहले दो टी-20 अभ्यास मैच खेलने को मिलेंगे।

हार्दिक पांड्या और मो. शमी बाहर : दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध सीरीज के लिए राष्ट्रीय चयनकर्ताओं ने टीम में कई बदलाव किए। बंगाल के आलराउंडर शाहबाज अहमद को आलरांडर हार्दिक पांड्या की जगह टीम में शामिल किया। हार्दिक को इस सीरीज से आराम दिया गया है। श्रेयस अय्यर को दीपक हुड्डा के स्थान पर टीम में जगह मिली है। हुड्डा कमर के दर्द से ठीक हो रहे हैं। मोहम्मद शमी आस्ट्रेलिया के बाद इस सीरीज से भी बाहर हो गए। शमी अभी कोविड-19 से उबर रहे हैं और उनके स्थान पर खेल रहे तेज गेंदबाज उमेश यादव टीम के साथ बने रहेंगे।

नहीं सुलझी 19वें ओवर की गुत्थी : एशिया कप में भुवनेश्वर कुमार का 19वां ओवर टीम के सुपर-4 में हार के कारणों में अहम था। फिर आस्ट्रेलिया के विरुद्ध मोहाली में भी भुवनेश्वर का 19वां ओवर महंगा साबित हुआ। फिर टीम प्रबंधन ने प्रयोग करते हुए आस्ट्रेलिया के विरुद्ध तीसरे टी-20 में 19वां ओवर जसप्रीत बुमराह से कराया, लेकिन वह भी इसमें सफल नहीं हो पाए और 18 रन दे दिए। अभी टीम प्रबंधन के पास यहीं मैच बचे हैं जहां उन्हें तय करना होगा कि टीम के लिए उपयोगी 19वां ओवर कौन डालेगा।

पंत और कार्तिक ने बढ़ाई चिंता : कप्तान रोहित शर्मा के लिए विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत और दिनेश कार्तिक ने चिंता बढ़ा रखी है। टीम प्रबंधन जब कार्तिक की जगह पंत को अंतिम एकादश में जगह देता है तो उन्हें बल्लेबाजी का प्रयाप्त मौका नहीं मिलता क्योंकि चौथे स्थान पर सूर्यकुमार यादव और फिर हार्दिक पांड्या खेलने आते हैं। जब पंत को मौका देते हैं तो उनका बल्ला नहीं चलता। ऐसी ही कहानी कार्तिक के साथ है। कार्तिक तो इन दिनों अपनी विकेटकीपर पंत के लिए चर्चाओं में हैं और उनके कीपिंग के तरीकों से कप्तान रोहित भी नाखुश है। अब दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध कार्तिक अपनी कीपिं से टीम प्रबंधन को खुश कर सकते हैं। आस्ट्रेलिया के विरुद्ध दोनों खिलाडि़यों की बल्लेबाजी की बात की जाए तो कार्तिक ने कुल सात गेंद खेली जबकि पंत ने एक मैच खेला, लेकिन बल्लेबाजी का मौका नहीं मिला।

Leave a Comment