सिराज की आखों से लेकर गाल तक आंसू बह रहे थे, पिता के निधन और नस्लीय टिप्पणी ने सिराज... - The Focus Hindi

सिराज की आखों से लेकर गाल तक आंसू बह रहे थे, पिता के निधन और नस्लीय टिप्पणी ने सिराज…

30 seconds सेकंड में वीडियो अपने आप प्ले हो जाएगी , PLEASE इंतजार करें

भारतीय क्रिकेट टीम ने साल 2020-21 में बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के दौरान ऑस्ट्रेलिया में इतिहास रचा था. टीम इंडिया ने यह टेस्ट सीरीज कई सीनियर खिलाड़ियों की गैरमौजूदगी में जीती. भारत ने एडिलेड टेस्ट हारने के बाद सीरीज में शानदार वापसी की. मेलबर्न में दूसरे टेस्ट में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 8 विकेट से हराकर सीरीज 1-1 से बराबर की. इसके बाद नए साल में तीसरा टेस्ट मैच सिडनी में खेला गया जो विवादास्पद रहा. यह वही टेस्ट मैच था जिसमें भारतीय पेसर मोहम्मद सिराज पर नस्ली टिप्पणी की गई. तत्कालीन ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम

Advertisement

पेन ने इसे याद करते हुए निराशाजनक बताया है.
मोहम्मद सिराज टेस्ट मैच के दौरान बाउंड्री पर फील्डिंग कर रहे थे. उस दौरान सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर मौजूद भीड़ में से कुछ दर्शकों ने सिराज पर नस्ली टिप्पणी करने के अलावा अपशब्द भी कहे. इस घटना का जिक्र कप्तान अजिंक्य रहाणे और टेस्ट मैच में अंपायरिंग कर रहे पॉल राइफल और पॉल विल्सन ने अपनी रिपोर्ट में किया था. उन्होंने यह भी कहा कि जसप्रीत बुमराह के साथ भी ऐसा व्यवहार किया गया था. मैच को थोड़ी देर के लिए रोका गया. अंपायरों ने अजिंक्य रहाणे को अपनी टीम को मैदान से बाहर ले जाने और मामला समाप्त होने के बाद लौटने का विकल्प दिया. लेकिन भारतीय टीम मैदान पर डटी रही क्योंकि एससीजी की सुरक्षा ने आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले लोगों को वहां से हटा दिया था.

कप्तान टिम पेन उस समय मोहम्मद सिराज और टीम इंडिया के सर्मथन में आए. उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई दर्शकों के व्यवहार की कड़ी निंदा की. पेन ने डॉक्यू-सीरीज ‘बंदों में दम था’ की स्ट्रीमिंग के दौरान वू़ट पर कहा, ‘परंपरागत रूप से हम ऑस्ट्रेलिया में अपनी मेहमान क्रिकेट टीम के साथ कैसा व्यवहार करते हैं. इसमें हम अच्छे रहे हैं. इसलिए इसे फिर से देखना निराशाजनक था.’

सिराज की आंखों से आंसू बह रहे थे
टिम पेन ने बात करते हुए आगे कहा, ‘मुझे अब भी याद है कि मैं सिराज के पास गया उनकी आखों से लेकर गाल तक आंसू बह रहे थे. जाहिर है कि नस्ली टिप्पणी ने सिराज को प्रभावित किया. वह एक बच्चा था जो अभी-अभी अपने पिता के निधन के दर्द से गुजरा था. फिर ऐसी चीजें मैदान पर होना अनुचित था.’ इसके बाद पेन और ऑस्ट्रेलियाई नेतृत्व समूह ने भीड़ से उन तत्वों को हटाने के लिए मोहम्मद सिराज का सर्मथन किया. भारत ने यह ऐतिहासिक सीरीज 2-1 के अंतर जीती थी. टीम इंडिया ने लगातार ऑस्ट्रेलिया की धरती पर दूसरी बार टेस्ट सीरीज जीती थी.

Advertisement

Leave a Comment