वर्ल्डकप में अहमद खान ने रचा इतिहास, टीम इंडिया के बाद इंग्लैंड को दिया एक और झटका, जबड़े से छीना गोल्ड - The Focus Hindi

वर्ल्डकप में अहमद खान ने रचा इतिहास, टीम इंडिया के बाद इंग्लैंड को दिया एक और झटका, जबड़े से छीना गोल्ड

30 seconds सेकंड में वीडियो अपने आप प्ले हो जाएगी , PLEASE इंतजार करें

साउथ कोरिया के चांगवन में खेले जा रहे ISSF World Cup में भारतीय निशानेबाज अहमद खान ने इतिहास रच दिया. ISSF World Cup में भारतीय निशानेबाज अहमद खान ने सोने पर निशाना लगाकर देश को गौरवान्वित कर दिया.

Advertisement

ISSF World CUP: निशानेबाज मेराज अहमद खान का कमाल, वर्ल्ड कप में गोल्ड मेडल  जीतकर रचा इतिहास - issf world cup mairaj ahmed khan scripts history becomes  first indian to win men40 शॉट के फाइनल में 46 साल के मेराज ने 37 का स्कोर करके कोरिया के मिंसु किम (36) और ब्रिटेन (इंग्लैंड) के बेन लीवेलिन (26 ) को पीछे छोड़ दिया. हाल ही में टीम इंडिया ने इंग्लैंड को वनडे सीरीज में शिकस्त दी थी. कोरियाई खिलाड़ी को सिल्वर और ब्रिटिश खिलाड़ी को ब्रांज मेडल से संतोष करना पड़ा.

Mairaj Ahmad Khan Misses Men's Skeet Final At Shotgun World Cup - मेराज  शॉटगन विश्व कप के फाइनल में जगह बनाने से चूके - Amar Ujala Hindi News Liveदो बार ओलंपिक खेलों में हिस्सा लेने वाले मेराज अहमद खान चांगवोन गए भारतीय दल के सबसे उम्रदराज खिलाड़ी हैं. 46 वर्षीय मेराज ने 2016 में रियो दि जिनेरियो विश्व कप में रजत पदक जीता था. इससे पहले अंजुम मौदगिल, आशी चौकसे और सिफ्ट कौर समरा की तिकड़ी ने महिलाओं की 50 मीटर राइफल 3पी टीम स्पर्धा में कांस्य पदक जीता है.

ISSF World Cup: भारत के मेराज अहमद खान ने स्कीट में गोल्ड जीत कर रचा इतिहास  - kanv kanv newsभारतीयों ने कांस्य पदक मैच में शीलन वेबेल, नादिन उनगेरैंक और रेबेका कोएक की ऑस्ट्रियाई टीम को 16-6 से हराकर ब्रांज मेडल अपने नाम किया. ISSF World Cup में भारत पांच स्वर्ण, पांच रजत और तीन कांस्य जीतकर अभी भी पदक तालिका में शीर्ष पर है.

ImageISSF World Cup में गोल्ड जीतने वाले अहमद मेराज का जन्म यूपी के बुलंदशहर में हुआ है. वे बचपन से क्रिकेटर बनना चाहते थे. उन्होंने अपनी पढ़ाई जामिया दिल्ल्ली से की है. पढ़ाई के दौरान वे जामिया की क्रिकेट का हिस्सा थे.

हालांकि उनके चाचा ने मेराज के आई कॉन्टैक्ट और एल्बो एंगल को देखते हुए उन्हें शूटिंग में आने के लिए प्रेरित किया. धीरे-धीरे उन्हें भी निशानेबाजी में मजा आने लगा और फिर ये उनका करियर बन गया. मेराज अहमद खान ने अब ISSF World Cup में गोल्ड जीतकर देश को गौरवान्वित कर दिया.

Advertisement

Leave a Comment