बु’र्का पहनो और नमा’ज पढ़ो- भरी महफिल में गौरी से बोल पड़े थे शाहरुख खान, नाम रख दिया था ‘आयशा’; जानें क्या था माजरा – The Focus Hindi

बु’र्का पहनो और नमा’ज पढ़ो- भरी महफिल में गौरी से बोल पड़े थे शाहरुख खान, नाम रख दिया था ‘आयशा’; जानें क्या था माजरा

[ad_1]

बॉलीवुड एक्टर शाहरुख खान और गौरी खान की जोड़ी फैंस की पसंदीदा जोड़ियों में से एक है। दोनों की शादी को 25 साल से ज्यादा का वक्त हो चुका है। यूं तो दोनों की शादी इंटरकास्ट हुई थी, साथ ही दोनों एक-दूसरे के ध र्म का भी बहुत सम्मान करते हैं। लेकिन एक वक्त ऐसा था जब शाहरुख खान ने भरी महफिल में गौरी खान का नाम बदलकर ‘आयशा’ रख दिया था। इतना ही नहीं एक्टर ने उन्हें बु र्का पहनने और न माज पढ़ने के लिए भी कहा था।

शाहरुख खान ने गौरी खान को यह बात अपने ससुरालवालों से परेशान होकर कही थी। इस बात का खुलासा खुद किंग खान ने फरीदा जलाल के टॉक शो पर किया था। शाहरुख खान ने बताया कि यह घटना उनके और गौरी खान के रिसेप्शन से जुड़ी हुई है।

इस बारे में बात करते हुए शाहरुख खान ने कहा, “मुझे याद है कि उनका पूरा ही परिवार काफी पुराने ख्यालात का था। मैं उनके विचारों का और आस्था का सम्मान करता हूं। वह सभी रिसेप्शन में बैठे हुए थे और जैसे ही मैं वहां पर पहुंचा वो लोग आपस में ही फुसफुसाने लगे, ‘अरे यह तो मु स्लिम लड़का है।”

शाहरुख खान ने इस बारे में आगे बताया, “मेरे ससुराल वाले लगातार यह कह रहे थे, “क्या यह लड़की का नाम बदल देगा? क्या गौरी अब मु स्लि म बन जाएगी?” किंग खान ने इस सिलसिले में आगे बताया, “वे सभी पंजाबी में बात कर रहे थे तो मैंने वक्त देखा और कहा, “ठीक है गौरी, बुर्का पहनो और चलो नमाज पढ़ते हैं।”

शाहरुख खान ने ससुरालवालों के रिएक्शन के बारे में बताया, “पूरा परिवार मेरी तरह हैरानी भरी नजर से देखने लगा और इस सोच में पड़ गया कि क्या सच में मैंने गौरी का धर्म परिवर्तन करा दिया है। मैंने उन लोगों से यह भी कहा कि अब से यह हमेशा बु र्के में रहेंगी, कभी भी घर से बाहर नहीं जाएंगी और अब से इनका नाम आयशा है।”

शाहरुख खान से इतर गौरी खान ने भी ‘कॉफी विद करण’ में कहा था, “मैं शाहरुख के ध र्मका सम्मान करती हूं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि मैं मु स्लिम बन जाउंगी। मैं इस बात में भरोसा नहीं करती हूं। मुझे लगता है कि हर कोई अपने-अपने धर्म का पालन करता है, लेकिन हां कभी भी किसी धर्म का अपमान नहीं करना चाहिए।”

[ad_2]

Source link

Leave a Comment