बाबर आजम ने लंका में रचा नया इतिहास, तोड़ा कोहली-रोहित का महारिकॉर्ड, बनाया 90 साल का करिश्माई रिकॉर्ड – The Focus Hindi

बाबर आजम ने लंका में रचा नया इतिहास, तोड़ा कोहली-रोहित का महारिकॉर्ड, बनाया 90 साल का करिश्माई रिकॉर्ड

श्रीलंका और पाक के मध्य खेले जा रहे मैच में श्रीलंका की दूसरी पारी 337 रन पर समाप्त हुई. मैच के चौथे दिन श्रीलंका की टीम मजबूत स्थिति में नजर आ रही है. वहीँ मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए श्रीलंका की पहली पारी महज 222 रनों पर सिमट गई थी. दिनेश चांडीमल ने सबसे ज्यादा 76 और महीष तीक्ष्णा ने 38 रनों की पारी खेलीं.

पाकिस्तान की तरफ से तेज गेंदबाज शाहीन शाह आफरीदी ने सबसे ज्यादा चार खिलाड़ियों को आउट किया. वहीं, यासिर शाह और हसन अली ने दो-दो सफलताएं प्राप्त कीं. जवाब में पाकिस्तान की पूरी पारी 218 रनों पर आउट हो गई, जिसके चलते मेजबान टीम को चार रनों की बढ़त मिली.

Imageपाक की तरफ से एक बार फिर बाबर आजम ने मोर्चा संभालते हुए शतक जड़ा. पाक कप्तान बाबर ने श्रीलंका के खिलाफ गॉल में खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच के दूसरे दिन 119 रनों की शानदार पारी खेली. बाबर ने अपनी इस पारी में 244 गेंदों का सामना किया और 11 चौकों और दो छक्के लगाए.

Imageबाबर की इस पारी की बदौलत ही पाकिस्तानी टीम पहली पारी में 218 रन बनाने में सफल रही. अपनी शतकीय पारी के दौरान बाबर आजम सबसे तेज दस हजार रन बनाने वाले पहले एशियाई बल्लेबाज भी बने. पाक कप्तान को 11वें नंबर के बल्लेबाज का अच्छा सहयोग मिला.

नसीम शाह 52 गेंदो का सामना करते हुए पांच रन पर नाबाद रहे. वहीं दूसरी पारी में 50 रन बना चुके बाबर आजम ने एक और रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया. बाबर आजम ने टेस्ट क्रिकेट में तीन हजार रन के आंकड़े को पार किया.

Imageबाबर आजम ने 41वें टेस्ट में इस आंकड़े को पार कर बाबर आजम (42 टेस्ट) को पीछे छोड़ा. वहीं रोहित भी बाबर से काफी पीछे छुट गये हैं. हालांकि पारियों का हिसाब देखा जाये तो बाबर और कोहली 73-73 पारियों में इस आंकड़े को पार किया.

श्रीलंका में शतक बनाने वाले पहले पाकिस्तानी कप्तान

Imageबाबर आजम का यह 25वां इंटरनेशनल शतक है. बाबर अब श्रीलंकाई धरती पर टेस्ट मैच में शतक लगाने वाले पहले पाकिस्तान कप्तान बन गए है. यही नहीं बाबर ने पाकिस्तानी कप्तान के तौर पर सर्वाधिक शतक लगाने के मामले में इंजमाम उल हक की बराबरी कर ली है. इंजमाम ने भी बतौर कप्तान नौ शतक लगाए थे.

Leave a Comment