'नहीं चाहिए ऐसा माल जिसमें हराम की बू आती हो', शोएब अख्तर बोले- दिल करता था किसी को मा'र दूँ... - The Focus Hindi

‘नहीं चाहिए ऐसा माल जिसमें हराम की बू आती हो’, शोएब अख्तर बोले- दिल करता था किसी को मा’र दूँ…

30 seconds सेकंड में वीडियो अपने आप प्ले हो जाएगी , PLEASE इंतजार करें

शोएब अख्तर का क्रिकेट करियर बेहद ही शानदार रहा. हालाँकि क्रिकेट करियर के दौरान अख्तर की वजह से कई विवाद भी खड़े हुए.अक्सर शोएब अख्तर का पंगा मैदान में किसी न किसी क्रिकेटर से हो जाता था. भारतीय क्रिकेटर्स भी कई बार अख्तर भिड़ते हुए नजर आये.

Advertisement

पाकिस्तान के तेज गेंदबाज शोएब अख्तर बेबाकी से अपनी बात रखने के लिए जाने जाते हैं. इस बीच एक जाने माने वेब पोर्टल के साथ बातचीत के दौरान शोएब अख्तर ने कहा, ‘मैं गलत चीज का साथ दे ही नहीं सकता. अख्तर ने कहा कि मेरे स्वभाव में वैसा नहीं है. तभी मैंने कभी मैच फिक्सिंग नहीं की.

माँ की नसीहत को दी तवज्जो

शोएब अख्तर की वालिदा का हुआ इंतकाल, लोगों से की सुरह फातिहा पढने की  दरख्वास्त, देखें तस्वीरें - Duniya Todayमेरे साथ के 12 खिलाड़ी मैच फिक्सिंग में फंसे हुए थे. अख्तर ने कहा कि मेरी मां ने मुझसे कहा था कि बेटा देख तेरी वजह से तेरे मुल्क पर कोई इल्जाम ना आए इस बात को ध्यान रखना. नहीं चाहिए ऐसा माल जिसमें हराम की बू आती हो. मैंने अपनी मां से कहा आप चिंता मत करो. अख्तर ने अपनी माँ से कहा कि मां मैं कभी भी अपने मुल्क को नहीं बेचुंगा. हमेशा हलाल पैसा कमाऊंगा भले ही थोड़ा पैसा हो. वही एक मां की बात आज मेरे काम आ रही है.

इसके अलावा शोएब अख्तर ने आगे कहा, ‘मुझे लगा कि जब मैं बॉलिंग करता था तब कम से कम 30 से 40 दफा ऐसा लगा मुझे या तो अंपायर की पसली पर मुक्का मा’रना चाहिए. बल्लेबाज को जाकर खुद बल्ला मा’र देता.

अख्तर ने बताया कि 1999 के विश्वकप के दौरान स्टीव वॉ साफ आउट थे. हालांकि अंपायर ने उन्हें आउट नहीं दिया था तब मुझे इतना गुस्सा आया आर मैने रन लेने के दौरान उन्हें धक्का मा’रा था. शोएब अख्तर ने कहा, ‘मैंने उस वक्त उनके साथ बड़ी बदतमीजी की थी.

इसके बाद फिर मैंने अंपायर स्टीव बकनर को देखा और उनसे कहा कि सोए हुए हो तुम क्या ? इतना मैं चार्जअप था कि मेरा दिल कर रहा था कि किसी को मार दूं. आखिर में अख्तर ने युवा क्रिकेटर्स को मैदान में कुल रहने की सलाह दी.

Advertisement

Leave a Comment