जम्मू कश्मीर तराश रहा उमरान से भी खतरनाक गेंदबाजों की फ़ौज, IPL में 6 गेंदबाजों ने मचाया तहलका - The Focus Hindi

जम्मू कश्मीर तराश रहा उमरान से भी खतरनाक गेंदबाजों की फ़ौज, IPL में 6 गेंदबाजों ने मचाया तहलका

30 seconds सेकंड में वीडियो अपने आप प्ले हो जाएगी , PLEASE इंतजार करें

उमरान मलिक आयरलैंड के विरुद्ध टीम इंडिया की जीत के सूत्रधार बने. आखिरी मैच में टीम को जीत दिलाने वाले उमरान की प्रशंसक जमकर तारीफ कर रहे हैं. टीम इंडिया के तेज गेंदबाज उमरान मलिक (Umran Malik ) ने पिछले साल जब आईपीएल में डेब्यू किया था.

Advertisement

आईपीएल के इस सीजन उमरान ने 155 किमी की रफ्तार से भी गेंदें फेंकी. उमरान ने आईपीएल के इस सीजन में कुल 22 विकेट लिए. वहीं उनकी टीम जम्मू कश्मीर घरेलू क्रिकेट में ज्यादा सफल नहीं रही. हालांकि कश्मीर के तेज गेंदबाजों का भारतीय क्रिकेट में दबदबा बनने लगा है

Umran Malik father gave an emotional reaction after his son selected in team India| Umran Malik: उमरान मलिक का सेलेक्शन होने पर भावुक हुए पिता, कहा- देश का नाम रोशन करेगा बेटा|62 साल के इतिहास में कश्मीर की टीम 2 बार ही रणजी ट्रॉफी के क्वार्टर फाइनल में पहुंची. रणजी ट्रॉफी के इस सीजन में कश्मीर की 21 सदस्यीय टीम में 8 तेज गेंदबाज थे. उमरान मलिक, रसिख सलाम,  Basit Bashir के अलावा जम्मू कश्मीर ने 3 अन्य तेज गेंदबाज आईपीएल में नेट गेंदबाज रहे. कुल मिलाकर जम्मू कश्मीर के 6 गेंदबाज आईपीएल में सक्रिय रहे.

Who is Rasikh Salam Dar?: KKR के लिए मैदान में उतरे कुलगाम के रसिक डार, उम्र फ्रॉड में लग चुका है बैन - IPL 2022 AajTakरसिख सलाम भी 150 KMPH की रफ़्तार से गेंदबाजी करते हैं. जम्मू कश्मीर के पूर्व कप्तान समीउल्लाह बेग ने कहा कि यहां की बुनियादी ढांचे की तुलना बाकी जगहों से नहीं की जा सकती. उन्होंने कहा कि तेज गेंदबाजी नेचुरल प्रतिभा है. दूसरी चीज, यहां का क्रिकेट के लिए जुनून है.

पूर्व कप्तान समीउल्लाह बेग का कहना है कि जम्मू कश्मीर को शुरू से ही तेज गेंदबाजी का आशीर्वाद मिला है. हमारा क्रिकेट इतिहास बताता है कि रणजी ट्रॉफी और बाकी घरेलू टूर्नामेंट में हमने जितने भी मैच जीते हैं, उनमें 90 फीसदी तेज गेंदबाजों का योगदान है. समीउल्लाह बेग ने कहा कि आने वाले समय में और भी उमरान देखने को मिलेंगे.

IPL 2022: How Rasikh Salam prepared for comeback after ban in 2019 - Sportstarवहीं 2018 से 2020 तक जम्मू कश्मीर की सीनियर टीम के कोच रहे मिलाप मेवाड़ा का कहना है कि यहां पर तेज गेंदबाजों की पूरी वंशावली अलग है. जम्मू कश्मीर के सीनियर तेज गेंदबाज मोहम्मद मुधासिर हैदराबाद रणजी टीम से जुड़े हैं. मिलाप ने कहा कि कश्मीर के गेंदबाजों में स्टेमिना अधिक हैं.

Advertisement

Leave a Comment