चौके और छक्के के बाद अब एक गेंद पर बनेंगे 5 रन, क्रिकेट में जल्द लागू होगा ये नया नियम - The Focus Hindi

चौके और छक्के के बाद अब एक गेंद पर बनेंगे 5 रन, क्रिकेट में जल्द लागू होगा ये नया नियम

30 seconds सेकंड में वीडियो अपने आप प्ले हो जाएगी , PLEASE इंतजार करें

एक बार फिर वक्त के साथ क्रिकेट भी बदलने के लिए तैयार है. मेरिलबोन क्रिकेट क्लब ने बुधवार को क्रिकेट में कुछ नए कानून लाने का फैसला किया है. कुछ ऐसे नियम जो खेल को और रोमांचक बना देंगे. एमसीसी के सुझावों के तहत ही आईसीसी नियमों को लागू करती है. एमसीसी ने जो नए नियम बनाए हैं उसे 1 अक्टूबर से लागू किया जाएगा, यानी टी20 विश्व कप 2022 से पहले क्रिकेट में नए नियम लागू हो जाएंगे. इन नियमों में एक नियम ऐसा भी है जिससे बल्लेबाजी टीम का काफी फायदा होने वाला है.

Advertisement

लॉ 27.4 और 28.6 में हुआ बदलाव
अभी तक क्रिकेट में गेंदबाज द्वारा गेंद करते टाइम फील्डिंग टीम का कोई सदस्य गलत तरीके से मूवमेंट करता दिखाई देता था तो अंपायर इसे डेड बॉल घोषित कर दिया करते थे. कई बार मैदान पर ऐसा देखने को मिला करता था कि बल्लेबाज उस बॉल पर ही बड़ा शॉट लगा दिया करता था लेकिन फील्डर की गलती की वजह से बल्लेबाज को रन ही दिए जाते थे. अब ऐसा नहीं होगा, इस नियम में अब बदलाव हो गया है. नए नियम के मुताबित फील्डर की गलती अब टीम पर ही भारी पड़ेगी. अब फील्डिंग टीम का कोई सदस्य गलत तरीके से मूवमेंट करता दिखाई देता है, तो बैटिंग साइड टीम को पेनल्टी के तौर पर 5 रन दिए जाएंगे.

इन नियमों में भी हुआ बदलाव
एमसीसी ने बल्लेबाजों के लिए भी एक नियम बदला है. नए नियम के मुताबिक किसी भी खिलाड़ी के आउट हो जाने के बाद आने वाला नया बल्लेबाज स्ट्राइक लेगा भले ही इससे पहले पिछले बल्लेबाजों ने आउट होने से पहले जगहें बदल ली हो. एमसीसी ने अब क्रिकेट में गेंद को चमकाने के लिए थूक के इस्तेमाल पर भी बैन लगा दिया है. पहले इसे केवल कोविड19 की वजह से लागू किया गया था लेकिन अब एमसीसी इसे कानून बना रही हैं. इसके अलावा वाइड और डेड बॉल को लेकर भी नियम बदल दिए गए हैं.

सभी नियम का ट्रायल भी हुआ पूरा
एमसीसी ने जिन नियमों में बदलाव करने की बात कही है उन सभी नियमों पर एमसीसी ने ट्रायल भी कराया था. इंग्लैंड में हैंड्रेड बॉल क्रिकेट में इन सभी नियम पर पहले ही ट्रायल हो चुके हैं. एमसीसी ने जिन नियमों में बदलाव करने की बात कही है उन्हें आमतौर पर आईसीसी बिना किसी बदलाव ने मान लेती है. एमसीसी के कानून प्रबंधक फ्रेजर स्टीवर्ट ने कहा,’क्रिकेट के नियमों के 2017 कोड के प्रकाशन के बाद से, खेल कई मायनों में बदल गया है. 2019 में प्रकाशित उस कोड का दूसरा संस्करण ज्यादातर स्पष्टीकरण और मामूली संशोधन था, लेकिन 2022 कोड में कुछ बड़े बदलाव किए गए हैं.

Advertisement

Leave a Comment