Advertisement

अभ्यास मैच के पहले दिन भारतीय टीम ने 9 विकेट खोकर 306 रन बना लिए थे।

Advertisement

मैच में राहुल को छोड़कर अन्य सभी भारतीय बल्लेबजों ने निराश किया। निचले क्रम के बल्लेबाजों में जडेजा ने अच्छे हाथ दिखाए। मैच में भारतीय टीम की कप्तान ओपनर रोहित शर्मा कर रहे थे, जबकि विरोधी टीम की कमान विल रोड्स के हाथों में है।

मैच में भारत की तरफ से रोहित शर्मा और मंयक अग्रवाल की जोड़ी ओपनिंग करने उतरी लेकिन 33 रन के स्कोर पर कप्तान रोहित शर्मा (9) सस्ते में आउट हो गए। इसके आठ रन बाद मयंक अग्रवाल भी 28 रन की पारी खेलकर बोल्ड हो गए।

भारत को ये दोनों झटके लिंडन जेम्स ने दिए। इसके बाद टेस्ट विशेषज्ञ चेतेश्वर पुजारा और हनुमा विहारी से टिकने की उम्मीद थी। लेकिन पुजारा 47 गेंदों में 21 रन की धीमी पारी खेलने के बाद स्टंप्ड हो गए जबकि हनुमा विहारी की पारी पुजारा से भी धीमी रही और वो 71 गेंदों में 24 रन बनाकर कैच आउट हुए।

राहुल ने पहले तो संयम के साथ अर्धशतकीय पारी खेली और रवींद्र जडेजा के साथ टीम की पारी को आगे बढ़ाया है। लेकिन कुछ देर बाद राहुल ने रफ्तार बढ़ाई और देखते-देखते शानदार शतक जड़ दिया। राहुल ने 150 गेंदों में 101 रनों की पारी खेली जिसमें 11 चौके और 1 छक्का शामिल था।

जडेजा ने शानदार अर्धशतक जड़कर भारत के स्कोर को और मजबूती दे दी। जडेजा 146 गेंदों में 75 रनों की शानदार पारी खेलने के बाद आउट हुए।

Advertisement

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *