Advertisement

इस बात में कोई दोराय नहीं कि बेटा अगर मां की जान होता है, तो बेटियां पिता के चेहरे का नूर होती हैं।

Advertisement

एक पिता के लिए उसकी बेटी की खुशियों से बढ़कर संसार में कुछ भी नहीं है। यही एक कारण भी है कि जब बात बेटी के शानदार भविष्य की आती है, तो हर दूसरे पिता की एक समान सोच देखने को मिलती है। बॉलीवुड एक्टर शाहरुख खान (Shahrukh Khan) भी उन्हीं में से एक हैं, जो न केवल अपनी फैमिली को लेकर काफी केयरिंग हैं बल्कि अपनी बेटी सुहाना के लिए ओवर प्रोटेक्टिव भी हैं।


हालांकि, ऐसा हो भी क्यों न उम्र के हर पड़ाव पर शाहरुख खान एक अच्छा पिता बनने के लिए खास भूमिका जो निभा रहे हैं। इसकी एक झलक हमें तब देखने को मिली, जब एक्टर से एक इंटरव्यू में पूछा गया अगर सुहाना का बॉयफ्रेंड होगा, तो उसमें क्या खूबियां होनी चाहिए?
चुटकियों में गिना दीं सात बातें

इस सवाल का जवाब देते हुए शाहरुख खान ने कहा ‘सुहाना को डेट करने से पहले मेरी 7 सामान्य शर्तें माननी होंगी। मेरी शर्तें कुछ इस प्रकार हैं…. अच्छी नौकरी करो। मान लो कि मैं तुम्हें पसंद नहीं करता हूं। मैं हर जगह मौजूद हूं। अपना एक वकील भी रखो। वह मेरी राजकुमारी है… तुम उसके आगे जीत नहीं सकते। मुझे दोबारा जेल जाने में कोई आपत्ति नहीं होगी। तुम उसके साथ जो भी करोगे मैं तुम्हारे साथ वही करूंगा।’

हालांकि, इस घटना के तुरंत बाद एनडीटीवी को दिए एक इंटरव्यू में शाहरुख खान ने यह भी कह दिया था कि अगर मेरी बेटी किसी को पसंद करेगी तो मैं कुछ नहीं करूंगा। मैं उसे स्वीकार कर लूंगा। हां, मैं उस लड़के को इतनी चेतावनी तो जरूर दूंगा कि सुहाना अपने पिता की प्रिंसेस है, जिसका दिल तोड़ने के बारे में तुम सोचना भी नहीं।’ खैर, शाहरुख खान अपने बच्चों के लिए बिंदास पिता के रूप में जाने जाते हैं लेकिन बेटी को लेकर उनकी एक्स्ट्रा केयर यह बताने के लिए काफी है कि हर पिता की तरह उनका सोचने का नजरिए भी एक जैसा है।

shah rukh khan set 7 rules for suhana khan boyfriend father-daughter relationships
बेटी के बॉयफ्रेंड से इतनी परेशानी क्यों?
बात चाहे किसी सेलिब्रिटी पैरेंट्स की हो या आम मां-बाप की, बेटी के बॉयफ्रेंड की बात पता चलने पर किसी को भी अच्छा नहीं लगता है। हालांकि, इसके पीछे की जो वजह निकलकर सामने आई हैं, वह यह कि ऐसे समय में पैरेंट्स को सबसे ज्यादा इस बात की चिंता सताने लगती है कि उनकी बेटी जिस इंसान के साथ है, आख़िरकार वह कितना सही है? क्या वह हमारी बेटी के लायक है भी या नहीं?

यही नहीं, कुछ पैरेंट्स बेटी के दिल टूटने की भावना को लेकर भी असहज महसूस करने लगते हैं। ऐसे में अगर किसी कारणवश उसे ऐसी सिचुएशन का सामना करना पड़ गया तो वह पिता और बेटी दोनों की सेहत के लिए सही नहीं होता। ऐसा हम यूं ही नहीं बल्कि ट्विंकल खन्ना ने भी अपने एक इंटरव्यू में इस बात का खुलासा किया था कि उनके पिता ने उन्हें एक साथ दो बॉयफ्रेंड रखने की सलाह दी थी। ऐसा इसलिए क्योंकि वह नहीं चाहते थे कि उनकी बेटी का कभी भी दिल टूटे।

किंग खान की शर्तें क्यों गलत नहीं
हर पिता की ऐसी ख्वाहिश होती है कि उसकी बेटी को कोई ऐसा इंसान मिले, जो उसे सबसे ज्यादा प्यार करें। शाहरुख खान भी उन्हीं में से एक हैं, जो अपनी बेटी सुहाना के लिए एक बेहतर भविष्य की कामना करते हैं। ऐसे में किंग खान की 7 शर्तें यह बताने के लिए काफी हैं कि वह किसी भी कीमत पर अपनी बेटी को परेशान नहीं देखना चाहते हैं।

मनोवैज्ञानिक राहुल आनंद का कहना है, ‘जैसे-जैसे पिता की उम्र बढ़ती है वैसे उनका बचपन वापस आने लगता है। उन्हें अच्छा लगता है कि कोई उनकी परवाह करे। यही एक कारण है कि इस दौरान हर पिता अपनी बेटी के लिए कुछ ज्यादा ही पजेसिव हो जाते हैं।

Advertisement

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *