Advertisement

साउथैंप्टन में हुए फाइनल मैच में केन विलियमसन ने दोनों पारियों में मिलाकर सबसे ज्यादा रन बनाए.

Advertisement

पहली बारी में उन्होंने 49 और दूसरी पारी में नाबाद 52 रन जड़े थे. इन पारियों की मदद से रैंकिंग में उनके पॉइंट्स 901 हो गए हैं और वह फिर से स्टीव स्मिथ (891) को पछाड़ते हुए नंबर एक बल्लेबाज बन गए हैं.

इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के दौरान ही स्मिथ ने विलियमसन को पहले स्थान से हटाया था, जिसे अब फिर से दिग्गज कीवी कप्तान ने हासिल कर लिया है.

विलियमसन के अलावा दूसरी पारी में 47 रन (नाबाद) बनाने वाले कीवी दिग्गज रॉस टेलर भी तीन स्थान की छलांग के साथ 14वीं रैंक पर पहुंच गए हैं. वहीं अगर भारत के नजरिए से बात करें, तो टेस्ट में टीम इंडिया के लिए सबसे ज्यादा रन बनाने वाले ओपनर रोहित शर्मा और उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे को थोड़-थोड़ा फायदा हुआ है.

रोहित ने दोनों पारियों में मिलाकर 64 रन (34, 30) बनाए थे और वह करियर की सर्वश्रेष्ठ छठीं रैंक पर आ गए हैं. उनके 759 पॉइंट्स हैं. वह अभी तक ऋषभ पंत के साथ बराबरी पर थे, जो 752 पॉइंट्स के साथ सातवें स्थान पर लुढ़क गए हैं.

Imageवहीं रोहित की तरह 64 रन (49, 15) बनाने वाले रहाणे को तीन स्थानों का फायदा हुआ है और वह 13वें स्थान पर पहुंच गए हैं. वहीं टेस्ट में 57 रन (44, 13) बनाने वाले भारतीय कप्तान विराट कोहली (812) चौथे स्थान पर बरकरार हैं.

उनसे ऊपर ऑस्ट्रेलिया के मार्नस लाबुशेन (878) तीसरे और कोहली से नीचे इंग्लिश कप्तान जो रूट (797) पांचवें स्थान पर हैं. गेंदबाजों की बात की जाये तो लिस्ट में शमी 18वें नंबर हैं. लिस्ट में 908 अंकों के साथ पैट कमिंस पहले पायदान पर हैं.

Advertisement

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *