Advertisement

बॉलीवुड ने सालों से हमें भागती-दौड़ती ज़िन्दगी में चंद लम्हें राहत के दिये हैं.

Advertisement

इस बात में दोराय नहीं है बॉलीवुड की फ़िल्मों ने हमें बहुत हंसाया, रुलाया और हमसे बहुत तालियां पिटवाई हैं. इस बात से भी कोई इंकार नहीं कर सकता कि बॉलीवुड में बेसिर-पैर का कुछ भी बना दिया जाता है, हॉट सीन, आईटम नंबर और साइंस को अटैक दिलाने वाली एक्शन सीन्स मार के!

13 illogical idiotic Bollywood movies with the dumb logic
तो हम हो गये थे महा फ़्रस्ट्रेट, सो हमने बना ली ऐसी 13 फ़िल्मों की लिस्ट जिनका कोई सेन्स नहीं बनता-

1. ओम शांति ओम
पुरन जन्म, आत्मा का बदला. रियली? और लास्ट में आत्मा के साक्षात दर्शन भी. उफ़्फ़, माफ़ कर दो भैया!

2. ढिशूम
एक जियो-मरो टाइम मैच से पहले कंधा टूट जाता है, कोई नहीं. दीवार पर कंधा दे मा’रो और सब चंगा सी. यही नहीं आप मैच भी जीत जाएंगे. क्रिकेट फ़ैन्स ने विकेट लेकर दौड़ाया कैसे नहीं, आई डोन्ट नो!

3. कभी ख़ुशी कभी ग़म
कह दिया न बस कह दिया. ये फ़िल्म लॉजिक की ऐसे हत्या करती है कि उस पर CID एपिसोड और क्राइम पेट्रोल के 10 एपिसोड बन जाएं! हमारे पास झोले भर डिग्री हो तो भी हम लंदन तो दूर, चौराहे तक न पहुंच पाएं! पिता की मृ”त्य के बाद, आ शादी कर लें. क्या ही चल रहा है यार?

4. रब ने बना दी जोड़ी
एक घर में रहने वाले 2 लोग, लेकिन पति ने मूंछें मुंडवा ली तो पत्नी पहचान नहीं पाईं! गानों के लिए पॉइंट दे देंगे.

5. मैंने प्यार किया
एक लड़का और लड़की कभी दोस्त नहीं बन सकते. ये सुनने के बाद कान से धुंआ निकल सकता है? रही बात कबूतर की, बस बालकनी में पॉटी करते हैं!

6. किक
किक मी हार्ड कि मैंने ‘किक’ देखी. डेविल भाई, सेटन से मिले थे क्या जो ‘हेल’ बना दिया.

7. रेस 3
इस फ़िल्म को ‘मतलब कुछ भी’ प्रतियोगिता में फ़र्स्ट अवॉर्ड मिलना चाहिए. ज़्यादा जानकारी के लिए ट्रेलर देखें!

8. कुछ कुछ होता है
छोटे बाल में लड़की अच्छी नहीं लगती, बस साड़ी में से”क्सी लगती है, क्या दु’श्म’नी थी लॉजिक से. सबसे अहम सवाल, किसी ने पैंट नहीं पहनी ये किसी को पता कैसे नहीं चल सकता?

9. तनु वेड्स मनु रिटर्नस
ज़बरदस्त कॉमेडी लेकिन मेंटल अस्पताल में कपल काउंसिलिंग कब से होने लगी भाई?

10. राउडी राठौड़
अगर सिर दर्द हो रहा हो तो ये फ़िल्म कभी मत देखना, हफ़्तेभर तक दर्द रहेगा! एक ही फ़िल्म के अंदर इतनी कहानियां हैं कि कन्फ़्यूज़न अलग. खै़र, अक्की फ़ैन्स से माफ़ी नहीं मांगेगे!

11. गुंडा
साईकिल की आड़ में रिवॉल्वर चलाना याद है? सामने वाला फूल बरसा रहा था क्या?

12. जब तक है जान
हाथ से बम डिफ़्यूज़, डिस्कवरी वालों को सेना में एंट्री, और सबसे बड़ी बात जान बचा दे भ’ग’वा’न, ब्रेकअप कर लूंगी. या ख़ुदा, रहम कर!

13. जानी दुश्मन: एक अनोखी कहानी
अगर ये अनोखी कहानी है तो हमें अनोखी का अब तक ग़लत मतलब पता था. सांप, दुल्हन बनी चु’ड़ै’ल, रे”प के बाद आ’त्म’ह’त्या करना, ये फ़िल्म बहुत से लेवल पर ग़लत है, एक बड़े स्टार कास्ट के साथ ये बनाया?

Advertisement

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *