Advertisement

फिल्म इंडस्ट्री हर किसी को रास नहीं आती है.

Advertisement

बॉलीवुड इंडस्ट्री हो या आम लोगों की बात हो हमने सभी जगह चेहरे के कलर को लेकर भेदभाव होते तो देखा ही है. अक्सर हर जगह ही ऐसा होता है जिसकी स्किन का रंग गोरा होता है उसे हर जगह महत्व दिया जाता है. हमारे समाज में गोरा होना ही सुंदरता की निशानी है. बॉलीवुड इंडस्ट्री में भी अक्सर कई लड़कियों को अपने सांवलेपन की वजह से काम नहीं दिया जाता है.

सिर्फ भारत ही क्यूँ दुनिया के तमाम देशों में भी रंग को लेकर भेदभाव होता रहता है. मगर क्या आपने ये सुना है किसी को उसके गोरे कलर के कारण काम नहीं मिला हो. ये बात सच है एक भारतीय अभिनेत्री ऐसी भी है जिनको अपने गोरेपन की वजह से कहीं काम नहीं मिला था. हम बात कर रहे है भाभी जी घर पर हैं (Bhabhi Ji Ghar Par Hain) फेम सौम्या टंडन (Saumya Tandon) के बारे में.

इस शो में सौम्या ने अनिता भाभी उर्फ गोरी मेम का किरदार प्ले किया था. उन्होंने खुद ही एक बार इंटरव्यू में बताया था कि कैसे उनका गौरापन ही उनके लिए मुसीबत बन गया था. सौम्या टंडन खुद भी ब्लैक लाइव्स मैटर का समर्थन करती आ रही हैं. एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने इस बात का खुलासा किया था कि उनको भी गोरेपन की वजह से काम नहीं मिला था.

दरअसल, मसला यह था कि वह किसी इंटरनेशनल प्रोजक्ट में एक भारतीय नागरिक का किरदार निभाने के लिए ऑडिशन देने गई थी. जब ऑडिशन लेते समय देखा गया कि सौम्या बहुत गोरी हैं और वे इंडियन हैं तो उन्होंने साफ तौर से मना कर दिया गया. उन्होंने कहा कि हम इंडियन लड़कियों को इतनी गोरी नहीं दिखा सकते है.

BhabhiJi Ghar Par Hain Actor Saumya Tandon Accused Of Posing As Frontline Worker For Vaccination | 'भाभाजी घर पर है' की एक्टर सौम्या टंडन पर फ्रंटलाइन वर्कर बनकर वैक्सीन लगवाने का आरोप,इसके साथ ही इस एक्ट्रेस ने ये भी बताया कि, उन लोगों को इस बात का यकीं नहीं हुआ कि, मैं एक इंडियन हूँ और यहाँ इतनी गोरी लड़कियां भी होती है. क्योंकि उनका नज़रिया था कि अमेरिका, लंदन, और वेस्टर्न कंट्रीज में ही इतनी गोरी लड़कियां होती है. उनका मानना था कि इंडियन लडकियां सिर्फ ब्राउन ही होती है.

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि, कई बार हमने देखा है कि इंटरनेशनल प्रोजेक्ट्स में इंडियन लड़कियों को ब्राउन स्किन वाली लड़की ही दिखाया जाता है. उन लोगों के अनुसार इंडिया, पाकिस्तान, बांग्लादेश में ब्राउन स्किन के लोग ही रहते है. भारतीयों की सोच पर सौम्या ने बात करते हुए कहा कि हमारे भारत में लोगों का मानना है कि सिर्फ फेयर स्किन लड़कियां ही सुंदर होती है.

उनकी ये सोच पूरी तरह से गलत है. बल्कि सच्चाई यह है कि हर रंग खूबसूरत होता है. उन्होंने कहा कि विदेश में लोगों को यह पता ही नहीं है कि हमारे नॉर्थ इंडिया में जैसे पंजाब, हरियाणा, कश्मीर आदि इन जगहों की लड़कियां काफी गोरी होती है.

Advertisement

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *