WordPress database error: [Table 'u945304538_migration1.wp_terms' doesn't exist]
SELECT DISTINCT t.term_id, tr.object_id FROM wp_terms AS t INNER JOIN wp_term_taxonomy AS tt ON t.term_id = tt.term_id INNER JOIN wp_term_relationships AS tr ON tr.term_taxonomy_id = tt.term_taxonomy_id WHERE tt.taxonomy IN ('category', 'post_tag', 'post_format') AND tr.object_id IN (10930) ORDER BY t.name ASC

इस भारतीय गेंदबाज के नाम है लगातार 21 ओवर मेडन फेंकने का विश्व रिकॉर्ड, 56 सालों से है अटूट – The Focus Hindi

WordPress database error: [Table 'u945304538_migration1.wp_users' doesn't exist]
SELECT * FROM wp_users WHERE ID IN (1)

WordPress database error: [Table 'u945304538_migration1.wp_users' doesn't exist]
SELECT * FROM wp_users WHERE ID = '1' LIMIT 1

इस भारतीय गेंदबाज के नाम है लगातार 21 ओवर मेडन फेंकने का विश्व रिकॉर्ड, 56 सालों से है अटूट

क्रिकेट के मैदान में एक गेंदबाज के मेडन ओवर के काफी मायने हैं। किसी भी गेंदबाज के द्वारा एक ओवर में लगातार 6 गेंद तक रन से रोकना इतना भी आसान नहीं रहता है। वैसे टेस्ट क्रिकेट में मेडन ओवर डालना ज्यादा मुश्किल नहीं होता है, क्योंकि बल्लेबाज जोखिम लेकर रन निकालने से परहेज करते हैं। टेस्ट क्रिकेट में कई बार खूब मेडन ओवर फेंके जाते हैं।

वो गेंदबाज जिसने डाले लगातार 21 मेडन ओवर

कोई भी गेंदबाज लगातार कितने ओवर मेडन डाल सकता है? कोई गेंदबाज लगातार 3 ओवर, 5 ओवर, 8 ओवर या फिर 10 ओवर। लेकिन एक ऐसा गेंदबाज हैं, जिसने 5, 10 या 15 ओवर नहीं बल्कि पूरे 21 ओवर लगातार बिना किसी रन के निकाले हैं, इस बात को जानकर आपको हैरानी होगी। लेकिन ऐसा ही कारनामा भारत के एक स्पिन गेंदबाज ने किया है, जिसने लगातार 21 ओवर मेडन डालने का विश्व कीर्तिमान बनाया, जो आज तक कायम है। ये कमाल आज से करीब 56 साल पहले हुआ था।

टेस्ट क्रिकेट

बापू नाडकर्णी ने बनाया था लगातार 21 मेडन ओवर का रिकॉर्ड

भारत के सबसे कंजूस या किफायती गेंदबाज के नाम से मशहूर रहे दिवंगत स्पिन गेंदबाज बापू नाडकर्णी ने साल 1966 में इंग्लैंड के खिलाफ मद्रास टेस्ट (अब चेन्नई) में लगातार 21 ओवर बिना किसी रन के निकाले थे। नाडकर्णी ने इस मैच में हैरअंगेज गेंदबाजी की थी। उन्हें इस मैच में कोई विकेट नहीं मिला था मगर उन्होंने 32 ओवर डालने के बाद केवल 5 रन खर्च किए थे। इसी दौरान उन्होंने लगातार 21 ओवर मेडन किए। नाडकर्णी ने अपने करियर में कुल 41 टेस्ट मैच खेले, जिसमें वो 88 विकेट ही ले सके। उनका इकॉनोमी रेट 2 से भी कम का रहा।

Leave a Comment